man

Suresh Salil

जन्म : 19 जून 1942, गंगादासपुर, जि़ला उन्नाव उत्तर प्रदेश। कृतियाँ : खुले में खड़े होकर, मेरा ठिकाना क्या पूछो हो, करोड़ों किरनों की जि़ंदगी का नाटक सा, भीगी हुई दीवार पर रोशनी, रंगतें और यह— कोई दीवार भी नहीं। रोशनी की खिड़कियाँ - बीसवीं सदी की विश्व कविता का वृहत् संचयन, लोर्का, नाजि़म हिकमत, पाब्लो नेरूदा, निकोलास गीय्येन, हांस माग्नुस ऐंत्सेंसबर्गर, इशिकावा ताकुबोकु की कविताओं के अलग-अलग संचयन। तनाव शृंखला में कोई एक दर्जन काव्यानुवाद पुस्तिकाएँ। पढ़ते हुए, नागार्जुन : जीवन और साहित्य चौखट के बाहर, गणेश शंकर विद्यार्थी । गणेश शंकर विद्यार्थी का जीवन और चिंतन, गणेश शंकर विद्यार्थी रचनावली का संपादन.

Book Writen by Suresh Salil


Koi diwar bhi nahin

Suresh Salil
  • Hardbound Rs-235
  • Rs 135